SSD Full Form In Hindi

SSD Full Form

हेल्लो दोस्तों ! SSD full form in computer में Solid State Drive होता है |आपलोगों ने अपने

आस पास ये जरूर सुना होगा कि लैपटॉप लेते समय SSD वाला लैपटॉप ले या HDD वाला |

तो आज मै आपलोगों को इसके बारे में पूरी जानकारी और SSD Full Form In Hindi

अन्य सवालों का जवाब मै दूंगा | अगर आप जब भोई कोई नया लैपटॉप लेने जाते है तो आप

सभी के मन में कुछ पहले से प्लानिंग होती होगी की आपको अच्छे features वाली लैपटॉप लूं |

तो इसके लिए आप इन सभी बैटन का ध्यान जरूर रखते होंगे जैसे कि Ram कितनी है ?,

Disk Drive कौन सा लें ?, डिस्प्ले size कितनी लेनी है ? और अन्य सभी बैटन का भी ध्यान रखना

पड़ता है ताकि आप लैपटॉप लेने के बाद पछताएँ नहीं | तो ये सब जानने से पहले आपका यह जानना

जरूरी है की SSD और HDD क्या है ?और इनमे क्या अंतर है ?

SSD in laptop means

SSD क्या होता है ? इसके बारे में हम जानेंगे | SSD in laptop means , SSD की चर्चा

आजकल बड़े ही जोरो से हो रही है तो इसके बारे में आपलोगों को पूरी जानकारी होना बहुत ही जरूरी है |

लोगो के मन में ये बात चली आ रही है की अगर आपके लैपटॉप में SSD होगा तो आपके लैपटॉप की

स्पीड बहुत ही अच्छी होगी | लेकिन HDD की भी अपनी कुछ विशेषता है जिससे ये आज भी मार्किट में

demandable है |वैसे तो HDD की कीमत SSD की तुलना में काफी कम होती है लेकिन स्पीड और

अन्य परफॉरमेंस की वजह से ये थोड़ी पिछे हो जाती है | SSD in laptop means होता है Solid State Drive.

इसका इस्तेमाल आजकल के लैपटॉप में ज्यादातर किया जाता है | ssd full form in hindi यह एक स्टोरेज

देवीचे है जो की हार्ड डिस्क ड्राइव का एक updated किया हुआ वर्शन है | यह हार्ड डिस्क के तुलना में काफी

कोस्त्ली होता है लेकिन अगर इसकी परफॉरमेंस की बात की जाये तो यह काफी तेजी से काम करता है |

यह Hard Disk Drive के तुलना में काफी हलकी और size में छोटी होती है | जिसके कारण आपके

लैपटॉप का वजन भी और SSD Full Form In स्पेस भी कम लेती है | ssd की खोज इसलिए हुआ ताकि

आपके कंप्यूटर की स्पीड अच्छी हो और यह काफी कम इलेक्ट्रिसिटी consume करता है | जिसके

कारण लैपटॉप की स्पीड दोगुनी या तिगुनी हो जाती है | यह फ़्लैश ड्राइव जैसे की pendrive या मेमोरी

card का एक रूप होता है | यह आपके लैपटॉप को काफी प्रभावशाली बनाती है |

Types Of SSD In Hindi

SSD (Solid State Drive) को केटेगरी वाइज विभाजित किया गया है जो कि निम्लिखित प्रकार के है :

  1. mSATA SSD

mSATA SSD का मतलब micro SATA SSD होता है इसके नाम से आपलोगों को पता चल गया होगा

की यह नार्मल SATA SSD से size में थोडा छोटा होता है | इसका इस्तेमाल सभी कंप्यूटर में नहीं किया

जा सकता है | इसका यूज़ उसमे किया जाता है जिसमे M Sata पोर्ट दिया हो SSD Full Form In

जैसे की इसे लैपटॉप में यूज़ किया जाता है |

2. SATA SSD

इस तरह की SSD को आप आसानी से पहचान सकते है क्योंकि यह बिलकुल HDD की तरह ही दीखता है |

यह एक साधारण SATA कनेक्टर को support करती है जिसमे अपनी हार्ड डिस्क ड्राइव को भी आसानी से इन्सर्ट कर सकते है | इस तरह की ssd का इस्तेमाल आजकल के हर लैपटॉप में किया जा रहा है |

3. M.2 SSD:

इसकी पहचान की बात की जाये तो इसकी बनावट msata की तरह ही होती है लेकिन यह msata का एक

updated वर्शन है | इसके size काफी छोटी होने के कारण इसका इस्तेमाल दो तरह से कनेक्टिविटी के

रूप में किया जाता है जैसे आप इसे msata से भी कनेक्ट कर सकते है और sata केबल के through भी

कनेक्ट कर सकते है |msata PCIe यानि एक्सप्रेस और size में भी छोटा होता है इसलिए इस तरह की ssd को कनेक्ट करने में भी इसका यूज़ किया जाता है |

4. SSHD:

SSHD का इस्तेमाल आजकल के pc में किया जाता है लेकिन इसमें ssd और hdd दोनों का ही फंक्शन मिक्स

किया हुआ होता है यह ssd के मुकाबले थोडा कम कीमती होता है लेकिन इसका यूज़ सभी करते है |

इसमें कुछ मेमोरी function सॉलिड State ड्राइव और कुछ मेमोरी function Hard डिस्क ड्राइव की होती है |

SSD कैसे काम करती है ?

ssd (Solid State Drive ) की वोर्किंग function को जानने से पहले आपको यह SSD Full Form In जाना

जरूरी है कि हार्ड डिस्क क्या होता है ? तो चलिए जानते है , हार्ड डिस्क एक magnetic डिस्क होती है जिसमे

magnetic function के द्वारा ही file ट्रान्सफर होता है और magnetic डिस्क के घुमने के कारण ही file access

और ट्रान्सफर हो पाता है |लेकिन ssd में सारा वोर्किंग function सेमीकंडक्टर पर आधारित होता है |

इसमें RAM की तरह बहुत सरे chips लगे होते है जिससे इसकी स्पीड कई गुणा ज्यादा बढ़ जाती है |

सेमीकंडक्टर में मैगनेट से ज्यादा आसानी से file का ट्रान्सफर होता है जिससे इसकी स्पीड तेज होती है |


HDD kya hota hai

HDD Full form क्या होता है इसके बारे में आपलोग जानेंगे और आगे के आर्टिकल में हम जानेंगे कि

SSD vs HDD क्या है और स्पीड इन हिंदी | हार्ड डिस्क ड्राइव एक प्रकार का magnetic डिस्क ड्राइव

है जिसमे magnetic मैकेनिकल function होने के कारण file ट्रान्सफर और access होता है | Hdd

का Full form Hard Disk Drive होता है |यह SSD के मुकाबले काफी कम स्पीड में काम करता है |

इसका वजन भी SSD की तुलना में ज्यादा होता है |HDD जब run करता है तो इसमें नॉइज़ ज्यादा निकलती

है जिससे लैपटॉप में वाइब्रेशन होता है | hdd में magnetic मैकेनिकल function होने के कारण डिस्क

पे घर्षण उत्पन्न होता है जिससे यह जल्दी गर्म हो जाता है |

SSD vs HDD स्पीड इन हिंदी

SSD का कोई मैकेनिकल arm नहीं होने के कारण इसमें डाटा ट्रान्सफर hdd की तुलना में काफी तेज़ी

से होता है इसका मतलब है कि इसमें hdd से 3-4 गुणा ज्यादा तेज़ी से work करता है | ssd में एक प्रकार

का embedded प्रोसेसर लगा होता है जिसे हम कंप्यूटर की भाषा में कंट्रोलर कहते है | Controller के द्वारा

ही बहुत सारे work function इसमें होते है जैसे कि reading & writing Data | इसमें controller की

मौजूदगी होने के कारण Data को स्टोर क्लीनअप, कैश इत्यादि कर सकते है वो भी काफी तेजी से |

Hdd में मैकेनिकल arm होने के कारण इसका वोर्किंग function स्लो होता है | इसमें वाइब्रेशन काफी

ज्यादा होता है जिससे यह जल्दी गर्म हो जाता है | hdd में ज्यादा नॉइज़ create होता है | hdd की स्पीड

ssd की तुलना में कम होती है | hdd में पॉवर कंसम्पशन ज्यादा होती है SSD Full Form In, जिससे यह हॉट

हो जाता है | hdd में file copy करने की स्पीड 50 -120 mbps होती है लेकिन ssd में 250 -500 mbps

होती है | hdd की बूटिंग स्पीड मतलब ओपन होने की स्पीड कम होती है | लगभग 10-15 seconds तक

ओपन स्पीड होती है लेकिन ssd की बूटिंग केवल 7-10 seconds में हो जाती है | hdd में magnetic

इफ़ेक्ट ज्यादा होने के कारण इसकी डाटा erase होने का चांस ज्यादा होता है |

यह भी पढ़े: वर्डप्रेस ब्लॉग कैसे रैंक करे?

कौन सा ले HDD या SSD ?

ssd का फॉर्म फैक्टर एक नार्मल hdd के बराबर ही होता है | यह मुख्यतः इन सभी sizes में मिलते है |

1.8”, 2.5”, 3.5” यह size आपके पुराने hdd वाले लैपटॉप में आसानी से फिट हो जाते है | इसके अलावा

आप अन्य स्टोरेज M-sata का भी use कर सकते है यह मिनी PCI E express में आसानी से attach हो जाता है |

मुझे अपनी लैपटॉप में कौन-सी हार्ड ड्राइव लगानी चाहिए ?

यह एक बहुत ही महत्ऊवपूर्पण सवाल है जिसका जवाब हर कोई जानना चाहते है , तो चलिए इसके बारे

में मई चर्चा करूँगा और आपकी हरेक दुविधा को दूर करने की कोशिश करूंगा |ऊपर बताई गयी बातों

से आपको समझ आ गया होगा की आपको HDD या SSD लैपटॉप लेना चाहिए , खैर

ये सब तो आपके बजट पर निर्भर करता है |

मेरे पॉइंट ऑफ़ व्यू के अनुसार आप hdd लैपटॉप तभी ले जब :

  1. आप ज्यादा स्पेस (हार्ड डिस्क स्पेस ) या आप ज्यादा file स्टोरेज करने के बारे में सोच रहे हो तो |
  2. जब आप कम बजट की बात कर रहे हो तो |
  3. अगर आप लैपटॉप की बूटिंग स्पीड यानि लैपटॉप ऑन – ऑफ होने की स्पीड के बारे में ज्यादा चिंता न
  4. हो तो आप HDD वाला लैपटॉप ले सकते है लेकिन

अगर आप SSD वाला लैपटॉप लेना कहते है तो आपको इन बातों का ध्यान होना जरूरी है :

  1. आपको कम स्पेस में अच्छी परफॉरमेंस वाली लैपटॉप चाहिए|
  2. SSD लैपटॉप लेने के लिए थोडा ज्यादा बजट होना चाहिए जिससे आपके लैपटॉप की स्पीड अधिक हो जाये |
निष्कर्ष :

इस प्रकार, मेरी इस छोटी सी जानकारी के माध्यम से आपको यह समझ आ गया होगा कि SSD Full Form In Hindi ,

HDD Full form , hdd kya hota hai , ssd meaning in laptop , what is ssd and hdd in laptop ?,

इन सभी के बारे में अच्छी जानकारी मिली होगी | अगर आपके इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई प्रश्न या सुझाव हो

तो please comment करे ताकि मुझे भी आपके सुझावों से कुछ सिखने का मौका मिले | मै आपके

सारे सवालों के जवाब देने की पूरी कोशिश करूंगा |

अन्य टॉपिक पढने के लिए मेरी वेबसाइट पर विजिट करते रहे | धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!